आवाज के जादूगर मन्ना डे का अनसुना किस्सा, इस सुपर स्टार के लिए थी दीवानगी

मनोरंजन

नई दिल्ली : दादा साहेब फालके अवार्ड (Dadasaheb Phalke Award) से सम्मानित मन्ना डे (Manna Dey) की आज पुण्य तिथि है. मन्ना डे एक जमाने में फिल्मों में राज कपूर से लेकर राजेंद्र कुमार, अशोक कुमार, जैसे सुपर स्टार की आवाज हुआ करते थे. लेकिन वो खुद किस सुपर स्टार के दीवाने थे आइए जानते हैं-

रेंज थी ऊंची
मन्ना डे ने उस समय हिंदी फिल्मों में प्ले बैक (Play back) देना शुरू किया, जब पहले से ही मोहम्मद रफी, किशोर कुमार और मुकेश का दबदबा चलता था. मन्ना डे को अपनी जगह बनाने में दिक्कत नहीं हुई, क्योंकि उनकी आवाज का रेंज बहुत ऊंचा था. रफी साहब कहते थे कि ‘बेशक देश-विदेश में मेरे हजारो-लाखों फैन होंगे, पर मैं तो सिर्फ मन्ना डे का फैन हूं. उनकी आवाज में जो बात है, जो रेंज है, वो किसी में नहीं है.’ 

ये भी देखें-  Sanjay Dutt ने वीडियो कॉल पर मनाया बच्चों का Birthday, तस्वीरें देख हो जाएंगे इमोशनल

वहीं मन्ना डे को पसंद थे राजेश खन्ना, वो कहा करते थे कि जब राजेश खन्ना मेरे गानों पर लिप सिंक करते हैं तो ऐसा लगता है जैसे वे खुद गा रहे हों. उनके चेहरे पर जो भाव आते हैं उससे मेरे गाने सफल हो जाते हैं. आनंद फिल्म में अपना गाया हुआ गाना ‘जिंदगी कैसी है पहेली हाय, कभी ये हंसाए कभी ये रुलाए’ ये भी राजेश खन्ना पर फिल्माया गया वो गीत था जो उन्हें बहुत पसंद था. आनंद फिल्म ने मन्ना डे के साथ-साथ राजेश खन्ना को भी करियर में नई ऊंचाई दी थी.

असली नाम कुछ और
चार हजार से अधिक फिल्मी गाना गाने वाले मन्ना डे का असली नाम प्रबोध चंद्र डे था. उनका घर का नाम मन्ना था. जब वे प्लेबैक सिंगर बनने मुंबई आए, तो इसी नाम से गाना गाने लगे. अपने स्कूली दिनों में वे गाने के लिए नहीं, बल्कि किसी और हुनर के लिए मशहूर थे. ये हुनर था दूसरों की नकल उतारना. खासकर अपने टीचर्स की. उनकी इस कला के उनके सारे दोस्त दीवाने थे. और अकसर उनसे टीचर्स की नकल उतारने को कहते. एक बार संगीत के शिक्षक ने उनको ऐसा करते देख लिया. उन्होंने मन्ना डे के इस हुनर की तारीफ की और साथ में यह भी कहा कि तुम्हारी आवाज कितनी अच्छी है. तुम इसका उपयोग गाना गाने में क्यों नहीं करते?

किशोर कुमार के दोस्त
किशोर कुमार और मन्ना डे दोनों बंगाली थे. अक्सर किशोर कुमार उनकी टांग खींचते. लेकिन उनको बहुत मानते थे. उन दोनों का साथ में गाया दो गाना एक शोले के लिए ये दोस्ती हम नहीं छोड़ेंगे और पड़ोसिन का एक चतुर नार बड़ी होशियार बेहद लोकप्रिय हुए थे.

Video-

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *