कोरोना को मात देने के बाद जरूरी हैं ये टेस्ट, हेल्थ मॉनिटरिंग के लिए जानें डिटेल

Health & Fitness

कोविड से ठीक होने के बाद चेकअप की जरुरत क्यों

कोरोना संक्रमण के दौरान हमारा इम्यून सिस्टम वायरस के खिलाफ लड़ाई लड़ता है। कुछ मामलों में देखने को मिला है कि कोरोना लंबे समय तक शरीर को प्रभावित कर सकता है। एक्सपर्ट का कहना है कि ब्लड और इम्यून सिस्टम को वायरस काफी हद तक प्रभावित करता है। अगर आप गंभीर संक्रमण के दौर से गुजरे है तो तब टेस्ट और स्कैन बहुत ही महत्वपूर्ण हो जाता है। कोरोना वायरस इंसान के लंग्स को काफी प्रभावित करता है। ऐसे में टेस्ट और स्कैन से पता किया जा सकता है कि आप कितने स्वस्थ हुए हैं।

Corona Vaccine: घर बैठे Whatsapp से पाएं करीबी सेंटर की जानकारी , फॉलो करें ये आसान स्टेप्सCorona Vaccine: घर बैठे Whatsapp से पाएं करीबी सेंटर की जानकारी , फॉलो करें ये आसान स्टेप्स

सिटी स्कैन टेस्ट

सिटी स्कैन टेस्ट

चेस्ट सिटी स्कैन टेस्ट से पता किया जा सकता है कि आपकी रिकवरी कैसी हो रही है। सिटी स्कैन टेस्ट से लंग फंक्शन रिकवरी के बारे में पता किया जाता है।

कोरोना के नए स्‍ट्रेन में फैल रहा है कोविड न‍िमोन‍िया, जानिए इसके खतरे और लक्षणों के बारे मेंकोरोना के नए स्‍ट्रेन में फैल रहा है कोविड न‍िमोन‍िया, जानिए इसके खतरे और लक्षणों के बारे में

विटामिन डी टेस्ट

विटामिन डी टेस्ट

विटामिन डी एक महत्वपूर्ण पोषक तत्व है जो हमारे इम्यून फंक्शन को सपोर्ट करता है कोविड संक्रमण के दौरान विटामिन डी रिकवरी को तेज करने में मदद करता है। विटामिन डी टेस्ट करना जरुरी होता है।

COVID Vaccine: कोरोना का टीका लगवाने के बाद भूल से भी न करें ये काम, वरना बढ़ सकता है संक्रमण का चांसCOVID Vaccine: कोरोना का टीका लगवाने के बाद भूल से भी न करें ये काम, वरना बढ़ सकता है संक्रमण का चांस

हार्ट इमेज, कार्डियक स्क्रीनिंग टेस्ट

हार्ट इमेज, कार्डियक स्क्रीनिंग टेस्ट

कोरोना वायरस की वजह से शरीर में बहुत कमजोरी हो जाती है। कोविड इंफेक्शन में शरीर में बहुत अधिक इन्फ्लेमेशन होता है जिसकी वजह से हार्ट की मांसपेशियां कमजोर हो जाती है। कोरोना से रिकवर होने वाले कई मरीजों में हार्ट बीट असामान्य जैसी समस्या देखने को मिलती है। इसलिए रिकवरी के बाद हार्ट इमेज या फिर कार्डियक स्क्रीनिंग टेस्ट जरुर कराएं।

कैसे करें असली और नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन की पहचान, खरीदने से पहले इस तरह करें पहचानकैसे करें असली और नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन की पहचान, खरीदने से पहले इस तरह करें पहचान

न्यूरो टेस्ट

न्यूरो टेस्ट

कोरोना वायरस से ठीक होने के बाद मरीज कई महीनों तक साइकोलॉजिकल और न्यूरोलॉजिकल लक्षण देखने को मिल रहे है। ऐसे में कोरोना से ठीक होने के बाद ब्रेन और न्यूरोलॉजिकल फंक्शन टेस्ट जरुर करवाएं ताकि ब्रेन फॉग, ऐंग्जाइटी, थकान और चक्कर आने जैसे लक्षणों का पता लग सकें।

Covid19: ऑक्सीजन कंसंट्रेटर कोरोना मरीजों को दे रहा है राहत की सांस, जानें कैसे करता है ये कामCovid19: ऑक्सीजन कंसंट्रेटर कोरोना मरीजों को दे रहा है राहत की सांस, जानें कैसे करता है ये काम

CBC टेस्ट

CBC टेस्ट

सीबीसी टेस्ट कम्पलीट ब्लड काउंट टेस्ट है। इस टेस्ट से ब्लड सेल्स (आरबीसी, डब्ल्यूबीसी, प्लेटलेट्स) को मापता है। इस टेस्ट से पता किया जा सकता है कि कोरोना संक्रमण के बाद आप कितने सेहतमंद है और किन चीजों का ध्यान रखना चाहिए।

जानें कोवैक्सीन और कोविशील्ड वैक्सीन में क्या अंतर हैजानें कोवैक्सीन और कोविशील्ड वैक्सीन में क्या अंतर है

ग्लूकोज - कोलेस्ट्रॉल टेस्ट

ग्लूकोज – कोलेस्ट्रॉल टेस्ट

कोरोना वायरस उन मरीजों को भी डायबिटीज का मरीज बना रहा है जिसमें संक्रमण से पहले डायबिटीज के कोई लक्षण नहीं थें। इसी वजह से कोविड 19 से ठीक होने के बाद ग्लूकोज टेस्ट कराएं ताकि ब्लड में ग्लूकोज का लेवल का पता कर इसे ठीक किया जा सकता है।

क्या कोरोना पॉजिटिव लगवा सकते है वैक्सीन? जानें विशेषज्ञ की रायक्या कोरोना पॉजिटिव लगवा सकते है वैक्सीन? जानें विशेषज्ञ की राय

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *