कोरोना से बचाव के लिए फेफड़ों को हेल्दी रखना है जरूरी, इन चीजों के सेवन से जल्द मिलेंगे नतीजे

Health & Fitness

लहसुन

आमतौर पर हर घर में लहसुन का इस्तेमाल खाना बनाने में होता है। लहसुन में प्रचुर मात्रा में एंटीवायरल, एंटीबायोटिक, एंटीफंगल गुण पाए जाते हैं। आप रोज सुबह खाली पेट दो से तीन कली लहसुन का सेवन कर सकते हैं। इसमें मौजूद लौह तत्व, विटामिन, कैल्शियम, फॉस्फोरस जैसे तत्व फेफड़ों को मजबूत रखने में सहायक हैं।

हल्दी

हल्दी

हल्दी अपने आप में एक पूर्ण औषधि के रूप में काम करती है। इसमें मौजूद एंटी ऑक्सीडेंट और एंटी इंफ्लामेट्री गुण व्यक्ति को हर तरह के संक्रमण से बचाते हैं। आप रोज रात में हल्दी वाला दूध पीकर सोने जाएं। इसके अलावा आप काढ़ा बनाने में भी हल्दी का इस्तेमाल कर सकते हैं। आप काढ़े में अदरक, तुलसी, गिलोय, लौंग, काली मिर्च, दालचीनी के साथ थोड़ी हल्दी भी मिला लें।

तुलसी

तुलसी

तुलसी का पौधा बहुत गुणकारी होता है। आप रोज सुबह चार से पांच तुलसी की पत्तियों का सेवन कर सकते हैं। आप चाय अथवा काढ़ा बनाने के दौरान तुलसी की पत्तियां जरुर डालें। इसमें मौजूद आयरन, विटामिन सी, पोटैशियम, क्लोरोफिल मैग्नीशियम और कैरीटीन फेफड़ों को स्वस्थ रखने में सहायता करता है।

अंजीर

अंजीर

अंजीर में ऐसे तत्व मौजूद है जो फेफड़ों को तंदरुस्त रखने के साथ दिल की भी हिफाजत करता है। इसमें पोटेशियम, मैग्नीशियम, कॉपर, विटामिन ए, विटामिन-सी, विटामिन-के और आयरन जैसे जरूरी पोषक तत्वों की प्रचुरता है। इसे अपनी डाइट में जरुर शामिल करें।

शहद

शहद

शहद एक सुपरफूड से कम नहीं है। आयुर्वेद में भी इसका बहुत अधिक महत्व बताया गया है। इसके एंटी-बैक्टीरियल गुण की वजह से फेफड़ों को मजबूती मिलती है। यह शरीर खासतौर पर फेफड़ों से विषाक्त तत्वों को बाहर निकालने में मदद करता है। इसके लिए आप सुबह गर्म नींबू पानी में शहद डालकर पिएं। आप काढ़ा बनाने में भी शहद का इस्तेमाल कर सकते हैं।

गाजर

गाजर

फेफड़ों को मजबूती देने के साथ ही गाजर धूम्रपान के कारण हुए नुकसान से उबरने में भी मदद करता है। गाजर में बीटा केरोटिन की भरपूर मात्रा होती है जो लंग्स को हेल्दी रखने में मदद करती है। धूम्रपान करने वाले लोग कोरोना की चपेट में जल्दी आ सकते हैं इसलिए उन्हें गाजर का सेवन जरुर करना चाहिए।

हरी पत्तेदार सब्जियां

हरी पत्तेदार सब्जियां

पालक, पत्तागोभी आदि हरी सब्जियों में विटामिन ए, सी, ई और के मौजूद होते हैं। इसके साथ इनमें एंटी ऑक्सीडेंट और एंटी इंफ्लामेट्री गुण भी होता है जो फेफड़ों को स्वस्थ रखने में मदद करता है।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *