क्या है एल्यूलोज, चीनी ज‍ितनी मिठास तो है लेक‍िन कैलोरी नहीं

Health & Fitness

Diabetes

oi-Seema Rawat

|

वेटलॉस करने के ल‍िए सबसे पहले लोग अपनी डाइट से चीनी को हटाते हैं। हालांकि नॉर्मल लाइफ में भी चीनी का सेवन कम करना चाहिए, क्योंकि इससे शरीर में कैलोरी बढ़ती हैं। कैलोरी बढ़ने की वजह से वजन बढ़ने की समस्या होने लगती है। लेक‍िन ज‍िन लोगों को मीठा का शौक होता है उनके ल‍िए मीठा छोड़ना बहुत ही बड़ा चैलेंज होता है। इस समस्या से निपटने के लिए ऐसे में ऑप्शन के तौर पर एल्यूलोज बेस्ट है क्योंकि यह स्वाद में बिल्कुल चीनी की तरह ही होता है और इसमें कैलोरी नहीं है।

आमतौर पर यह रोजाना खाए जाने वाली चीनी नहीं बल्कि एल्यूलोज है जो मीठे के तौर पर बेहतर और एक हेल्दी ऑप्शन है। इसे आप नॉर्मल डाइट में शामिल कर सकती हैं। एल्यूलोज इन दिनों काफी पॉपुलर है क्योंकि इसमें चीनी की तुलना में 90% कैलोरी की मात्रा कम होती है। आइए जानते हैं क्या है एल्यूलोज और सेहत के लिए है कितना फायदेमंद है।

क्या है एल्यूलोज

एल्यूलोज एक नॉर्मल चीनी है जो कई फूड जैसे कटहल, किशमिश, मेपल सिरप, ब्राउन शुगर, कारमेल सॉस आदि में शामिल है। हेल्दी होने के साथ यह मोबिलाइज्ड नहीं है, इसलिए इसमें कैलोरी नहीं होता है। साथ ही यह ब्लड शुगर के लेवल को प्रभावित नहीं करता है। इस प्रॉपर्टी के कारण, यह डायबिटीज रोगियों के लिए उपयुक्त है और साथ ही यह फिटनेस को मेंटेन करने के लिए भी परफेक्ट है क्योंकि इसमें चीनी नहीं है। दिल के सेहत के लिए भी काफी अच्छा माना जाता है।

नॉर्मल चीनी से अलग है एल्यूलोज

एल्यूलोज न सिर्फ अलग है बल्कि हेल्दी भी है,लेकिन इसके लिए आपको चीनी के बारे में जानना जरूरी है। चीनी को तीन तरीके में बांटा गया है। मोनोसैक्राइड, डिसैक्राइड और ओलिगोसैचेराइड्स। मोनोसैक्राइड चीनी का सरल रूप है और इसमें ग्लूकोज, फ्रक्टोज शामिल है। इन दोनों को मिलने पर डिसैक्राइ बनता है। रोजमर्रा की जिंदगी में इस्तेमाल होने वाली चीनी डिसैकराइड है क्योंकि यह ग्लूकोज और फ्रक्टोज से बनी होती है।

एल्यूलोज एक मोनोसैक्राइड है जिसमें चीनी के बराबर मीठा होता है। इसे डायबिटीज के मरीज भी डाइट में शामिल कर सकते हैं। इसके अलावा यह दांतों पर नकारात्मक प्रभाव नहीं डालता है। ऐसे में आप बिना किसी नुकसान के इसे अपनी डाइट में शामिल कर सकती हैं।

चीनी की तुलना में है कम मीठा

एफडीए( अमेरिकी खाद्य और औषधि) के मुताबिक एल्यूलोज कम कैलोरी और कम मीठा होता है जिसे किसी शुगर लिस्ट में शामिल करने की आवश्यकता नहीं है। कुछ नैचुरल खाद्य पदार्थों में एल्यूलोज बहुत मात्रा में मौजूद होता है, ऐसे में इसे दुर्लभ भी माना जाता है। हालांकि एल्यूलोज की टेक्सचर, स्वाद और अन्य विशेषताएं चीनी के समान हैं, लेकिन इसे कम कैलोरी वाली चीनी नहीं माना जा सकता है। इस तरह के मोनोसैक्राइड प्रकार के चीनी में केवल मुट्ठी भर खाद्य पदार्थ होते हैं। वहीं इसके बढ़ते डिमांड की वजह से कई कंपनियां फ्रुक्टोज और कॉर्न में इसकी पैकेजिंग कर रही है। वहीं ऐसे कई खाद्य पदार्थ हैं, जिसमें एल्यूलोज की मात्रा अधिक है ऐसे में आप चाहे तो चीनी का सेवन बंद कर सकती हैं।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *