चीनी फैन्स को सता रही Aamir Khan की चिंता, कहा- लगवा लें हमारी वैक्सीन

मनोरंजन

बीजिंग: पिछले कुछ दिनों से भारत के कई सितारों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. अब बॉलीवुड सुपरस्टार आमिर खान को भी कोरोना हो गया है. उनके प्रवक्ता ने इस खबर की पुष्टि की है कि इस बीमारी की चपेट में आने के बाद आमिर खान होम क्वारंटाइन हैं और कोरोना के सभी नियमों का पालन कर रहे हैं. 24 मार्च को इंडिया एक्सप्रेस और इंडिया टुडे समेत कई भारतीय मीडिया ने यह खबर जारी की. आमिर खान (Aamir Khan) भारत के जाने-माने अभिनेता हैं. चीन में भी उनको चाहने वाले बहुत हैं और वे सबसे अधिक लोकप्रिय भारतीय फिल्म स्टार भी हैं. आमिर खान की फिल्में चीनी बॉक्स ऑफिस में बड़ी सफलता हासिल करती रही हैं. उदाहरण के लिए थ्री- ‘इडियट्स’, ‘पीके’, ‘दंगल’, ‘सीक्रेट सुपरस्टार’ आदि. खास तौर पर फिल्म ‘दंगल’ ने चीन की मुख्य भूमि के सिनेमाघरों में केवल 26 दिनों में ही 1 अरब युआन की कमाई कर डाली.

चीनी फैंस हुए चिंतित

अब ये लोकप्रिय फिल्म स्टार कोरोना से संक्रमित हुए हैं. उनके तमाम चीनी फैंस भी इसको लेकर चिंतित हुए हैं. पर सभी फैंस के दिमाग में यह सवाल भी आया है कि ‘आमिर खान (Aamir Khan) साहब, क्या आपने कोविड-19 रोधी टीका लगवाया है?’ क्योंकि चीन में अधिकतर प्रांतों व शहरों में बड़े पैमाने पर नि:शुल्क टीकाकरण कार्य किया गया है.

चीनी फैंस ने दी सलाह

हालांकि, कुछ फैंस ने आमिर (Aamir Khan) को चीनी टीका लगाने की सलाह दी है. उनका कहना है, ‘स्वस्थ होने के बाद क्या आप भी चीन द्वारा उत्पादित वैक्सीन लगवाएंगे?’ क्योंकि कोरोना वायरस के विभिन्न रूप हैं, और जल्दी से उत्परिवर्तित भी होते हैं. इसलिए स्वस्थ होने पर भी लोग संक्रमित हो सकते हैं. ध्यानाकर्षक बात यह है कि चीनी टीके वर्तमान में मौजूदा सभी उत्परिवर्तित वायरस के प्रति प्रभावी हैं.

जल्द ठीक होने की कामना की

वहीं, आमिर (Aamir Khan) की बात करें तो चीनी फैंस उनके स्वास्थ्य को लेकर बहुत चिंतित हैं. चीनी लोगों ने उनके जल्द से जल्द ठीक होने की कामना की है, ताकि वे फिर से सक्रिय होकर नई फिल्में बना सकें.

चीनी में चल रहा है वैक्सीनेशन अभियान

चीनी राष्ट्रीय स्वास्थ्य कमेटी के प्रवक्ता मी फंग के अनुसार, 20 मार्च तक चीन में कुल 7 करोड़ 49 लाख 56 हजार लोगों को टीके लगाए जा चुके हैं. साथ ही चीन में पूरे साल में टीकों का उत्पादन देशभर जनता की मांग को पूरा कर सकेगा. यही नहीं चीन ने अपने देश में टीकाकरण कार्य अच्छी तरह से करने के अलावा सक्रिय रूप से अन्य देशों को वैक्सीन संबंधी सहायता दी है. गत वर्ष के मई में चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने 73वीं विश्व स्वास्थ्य महासभा के उद्घाटन समारोह में यह घोषणा की कि चीन कोविड-19 रोधी टीके का अनुसंधान व प्रयोग करने के बाद उसे एक वैश्विक सार्वजनिक उत्पाद बनाएगा, ताकि व्यापक विकासशील देशों में टीकाकरण कार्य के लिए चीनी योगदान दिया जा सके.

और देशों की मदद कर रहा चीन

अब चीन 80 देशों व तीन अंतररर्ष्ट्रीय संगठनों को टीका सहायता दे रहा है. सहायता पाने वाले देशों में 26 एशियाई देश, 34 अफ्रीकी देश, 4 यूरोपीय देश, 10 अमेरिकी देश और 6 ओशिनिया देश शामिल हुए हैं. इनके अलावा चीन ने अफ्रीकी संघ, अरब लीग, और संयुक्त राष्ट्र के शांति रक्षकों को भी टीका सहायता दी. उन टीकों को सुव्यवस्थित रूप से भेजा जा रहा है और प्रयोग किया जा रहा है.

चीन का दावा प्रभावी है टीका 

साइनोफार्म चाइना बायोटेक्नोलॉजी कंपनी के बोर्ड अध्यक्ष यांग श्याओमिंग के अनुसार, शोधकर्ताओं द्वारा चीनी टीके के प्रति की गई पड़ताल से यह जाहिर हुआ है कि अब तक सामने आए उत्परिवर्ती उपभेदों के खिलाफ चीन का निष्क्रिय टीका प्रभावी है. इसके अलावा रॉयटर्स की खबर के अनुसार, ब्राजील के शोधकर्ताओं ने इस बात की पुष्टि की कि चीन के साइनोवैक टीके ब्रिटेन व दक्षिण अफ्रीका में मौजूद उत्परिवर्ती उपभेदों के खिलाफ प्रभावी हैं.

ये भी पढ़ें: 19 की Priyanka Chopra को देख पहचान नहीं पाएंगे आप, पहनती थीं बिंदी के साथ बिकिनी

एंटरटेनमेंट की लेटेस्ट और इंटरेस्टिंग खबरों के लिए यहां क्लिक कर Zee News के Entertainment Facebook Page को लाइक करें

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *