ज्‍यादा गरम पानी पीने से भी होते है नुकसान, जानें कैसे ?

ज्‍यादा गरम पानी पीने से भी होते है नुकसान, जानें कैसे ?

Health & Fitness

 

होंठ या जीभ जल सकते है

गर्म पानी पीने से शरीर के आंतरिक अंग जल सकते है, क्योंकि गर्म पानी का तापमान आपके शरीर के अंग से बिलकुल अलग होता है। तो पानी का तापमान चेक कर लें।

गर्म पानी के सेवन से कई बार लोगों के होंठ, जीभ या मुंह की अंदरूनी परत में छाले पड़ने आदि की समस्या हो जाती है। जो अल्सर का कारण भी बन सकता है। इसके कारण आप सही ढ़ंग से भोजन नहीं कर पाते, कुछ चबा या पी नहीं पाते। ऐसे कंडीशन से बचने के लिए हमेशा पानी हल्का ही गुनगना कर के पीएं।

किडनी पर पड़ता है दबाब

किडनी पर पड़ता है दबाब

किडनी शरीर के टॉक्सिन निकालने का काम करती है। मगर जरूरत से ज्यादा पानी पीने से किडनी खराब हो जाती है, क्योंकि किडनी पर दबाव पड़ता है।

गर्म पानी बिना प्यास के पीने की वजह से आपके दिमाग की नसों में सूजन आ सकती है।

सिरदर्द हो सकता है

सिरदर्द हो सकता है

हमारे रक्त और कोशिकाओं पर बहुत अधिक गर्म पानी के सेवन के खतरनाक प्रभाव पड़ सकता है। पानी की बहुत अधिक खपत रक्त में इलेक्ट्रोलाइट्स को पतला कर सकती है। जिसके कारण मस्तिष्क की कोशिकाओं में सूजन पैदा हो सकती है। जो आए दिन सिरदर्द पैदा करने का काम करेगा। जिससे आपकी परेशानी बढ़ सकती है।

स्किन रहती है चमकदार

स्किन रहती है चमकदार

गर्म पानी के कुछ फायदे भी है। गर्म या गुनगुना पानी आपकी त्वचा के लिए बहुत फायदेमंद है। इसे पीने से त्‍वचा स्वस्थ और चमकदार बनी रहती है। इसके उपयोग से त्वचा से जुड़े इन्फेक्शन खत्म हो जाते है, ये रूखी त्वचा के लिए बहुत उपयोगी है। ये स्वस्थ त्वचा को बनाये रखने में मदद करता है और एक खूबसूरत निखार भी देता है।

वजन करें कम

वजन करें कम

अगर आप वजन कम करना चाहते हैं तो नियमित रूप से खाली पेट गर्म पानी पीना चाहिए क्योकि ऐसा करने से शरीर में मौजूद टॉक्सिन्स बाहर निकलेंगे और गर्म पानी पीने से शरीर में जमा वसा खत्म होने लगता है इसके साथ ही आपका ब्लड प्यूरीफाई भी होगा।

रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है

यदि आप रोगों से लड़ने के लिए अपनी रोगप्रतिरोधक क्षमता में बढ़ावा करना चाहते हैं तो रोज सुबह उठते ही एक गिलास गर्म पानी में नींबू डालकर सेवन करें।

 

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *