पांच तरह के होते हैं सिरदर्द, जानिए आपको कौन सा है और क्‍या है इसका इलाज

Health & Fitness

1. टेंशन वाला सिरदर्द-

ये सिरदर्द अधिक टेंशन के साथ होता है। काम का स्ट्रेस, पर्सनल लाइफ का स्ट्रेस आदि सब मिलकर इस सिरदर्द को और बढ़ा देते हैं। इस तरह का सिरदर्द सबसे ज्यादा कॉमन होता है। यही सिरदर्द लगातार टेंशन के कारण हाइपर टेंशन सिरदर्द में बदल जाता है जो बहुत ज्यादा दुखदाई हो जाता है।

लक्षण-

– सिर में प्रेशर महसूस होता है। माथा सिकुड़ा हुआ सा लगता है।

– आंखों और अपर फोरहेड पर टेंशन से लकीरें बनी हुई लगेंगी।

– दर्द धीमा शुरू होता है और टेंशन बढ़ने के साथ ही बढ़ता है। ये अक्सर सुबह कम और शाम होते-होते ज्यादा हो जाता है।

क्या हैं इस तरह के दर्द के कारण?

– खराब पॉश्चर

– नींद में कमी

– काम का या किसी पर्सनल बात का स्ट्रेस

– किसी गलत पोजीशन में सिर को होल्ड करना।

कैसे करें इसे ठीक-

– अगर ये लगातार बना हुआ है तो डॉक्टर से सलाह लें।

– स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज करें।

– हेल्दी डाइट लें और स्ट्रेस लेने से बचें।

 2. साइनस वाला सिरदर्द-

2. साइनस वाला सिरदर्द-

साइनस की वजह से सिरदर्द की समस्या बढ़ जाती है और ऐसे में आपको बहुत परेशानी होती है।

लक्षण-

– सिरदर्द के साथ फीवर और नाक बंद।

– आंखों के नीचे और आईब्रो एरिया में टेंशन फील होगी और प्रेशर होगा।

– गालों में भी प्रेशर सा फील होने लगेगा।

– थकान महसूस होगी।

क्या हैं इस तरह के दर्द के कारण?

– साइनस के कारण होता है ये सिरदर्द

– बुखार या सीजनल एलर्जी के बाद ये सिरदर्द हो जाता है।

कैसे करें ठीक-

– अपने डॉक्टर द्वारा बताई गई दवाएं खाएं।

-बहुत ज्यादा ठंडी चीज़ों से दूर रहें।

– जिस भी चीज़ से साइनस ट्रिगर होता है जैसे धूल-मिट्टी, ठंडक, एसी की डायरेक्ट हवा आदि से बचें।

3. माइग्रेन-

3. माइग्रेन-

माइग्रेन का दर्द सबसे ज्यादा खतरनाक दर्द में से एक होता है।

लक्षण-

– सिर के किसी एक हिस्से में बहुत तेज़ सिरदर्द

– ये 4 स्टेजेस में होता है।

– पहली स्टेज 2 दिन तक चल सकती है जिसे Prodrome कहते हैं, दूसरी Aura कहलाती है जो 30 मिनट तक चलती है जिसमें बहुत सीरियस पेन होता है। तीसरी Resolution होती है जो 24 घंटे तक चल सकती है वो टेंशन, ध्यान न लगना आदि से जुड़ी होती है और चौथी खुद सिरदर्द जो 72 घंटे तक बना रह सकता है।

इस तरह के सिरदर्द के क्या हैं कारण?

– कोई चोट

– हेरेडिटी के कारण

– किसी बीमारी या दवा का साइडइफेक्ट

– नर्व्स प्रॉबलम्स के कारण

कैसे करें ठीक-

– माइग्रेन के लिए आप वो सब करें जो आपके डॉक्टर ने बताया हो। इसे पूरी तरह से ठीक करना मुश्किल होता है।

– आपको मेडिटेशन और रेगुलर एक्सरसाइज भी मदद कर सकती है।

इसे जरूर पढ़ें- सिरदर्द से इन घरेलू नुस्‍खों से छुटकारा पाएं

4. क्लस्टर सिरदर्द

4. क्लस्टर सिरदर्द

इस तरह का सिरदर्द कॉमन नहीं होता और अक्सर किसी और सिरदर्द से कन्फ्यूज कर लिया जाता है। ये पुरुषों को महिलाओं की तुलना में ज्यादा होता है।

लक्षण-

– आंखों के पीछे या उसके आस पार दर्द होता है।

– ये नींद के समय ज्यादा होता है।

– आंखों का लाल होना, लाइट से सेंसिटिविटी होना आदि इस तरह के सिरदर्द की समस्या होती है।

– ये 15 मिनट से 1 घंटे तक हो सकता है।

क्या है इस तरह के सिरदर्द का कारण-

– ये हर व्यक्ति पर अलग निर्भर करता है। किसी को ये समस्या हेरेडिटरी हो सकती है तो किसी को ये किसी तरह की चोट या बीमारी का साइडइफेक्ट हो सकता है।

कैसे करें ठीक-

– अगर ऐसा सिरदर्द हो रहा है तो डॉक्टर से संपर्क करें।

– खुद को एक्टिव रखें और हेल्दी डाइट खाएं।

– ऐसे समय में स्क्रीन देखने या किसी तरह का स्ट्रेस लेने से बचें।

5. हैंगओवर

5. हैंगओवर

बहुत ज्यादा शराब का सेवन करने से ये समस्या हो सकती है और इस बढ़ी हुई समस्या का इलाज करने के लिए आपको कुछ देसी नुस्खों को आजमा लेना चाहिए या फिर एंटी-हैंगओवर मेडिसिन डॉक्टर की सलाह पर ले लेनी चाहिए।

लक्षण-

– एक दिन शराब पीने के बाद दूसरे दिन बहुत तेज़ सिरदर्द।

– दिन भर थकान महसूस होना।

– सिरदर्द के साथ अपच या उल्टी होना।

क्या है इस तरह के सिरदर्द के कारण?

– बहुत ज्यादा शराब का सेवन करना भी एक कारण हो सकता है।

– शराब के साथ किसी तरह का सिरदर्द 24 घंटे तक रह सकता है।

– देसी नुस्खे जैसे नींबू का रस आदि इस तरह के सिरदर्द में मदद कर सकते हैं।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *