पूर्व असिस्टेंट का दावा- ‘सुशांत आत्महत्या जैसा कदम उठा ही नहीं सकते’, रिया को लेकर कही ये बात

मनोरंजन

नई दिल्ली: दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) के निधन के बाद से एक के बाद एक उनके करीबियों के बयान सामने आ रहे हैं. सीबीआई अब इस मामले की तफ्तीश कर रही है, वहीं अब सुशांत सिंह के पूर्व असिस्टेंट अंकित आचार्य ने कहा है कि सुशांत आत्महत्या जैसा कदम उठा ही नहीं सकते हैं. अंकित का कहना है कि सुशांत की हत्या की गई है. अंकित आचार्य ने बताया कि सुशांत हमेशा खुश रहने वाले लोगों में से थे, और वो आत्महत्या जैसा कदम नहीं उठा सकते हैं. आचार्य ने कहा कि सुशांत लोगों को सकारात्मक प्रेरणा देने वालों में से थे, वो कैसे आत्महत्या कर सकते हैं.

अंकित ने बताया कि उन्होंने सुशांत के साथ 2017 से लेकर 2019 तक काम किया और वो उनके साथ 24 घंटे रहते थे. अंकित का ये भी कहना है कि वो सुशांत के खाने से लेकर दवाइयों और शूटिंग का भी ख्याल रखते थे. अंकित से जब ये पूछा गया कि इस घटना के पीछे कौन हो सकता है तो उन्होने कहा कि कुछ नहीं कह सकता, अभी जांच जारी है. अंकित ये भी कहा कि वो सुशांत की मौत के बारे में वो गहराई से जानना चाहते हैं. उन्होंने बताया कि सुशांत की आंखों के आसपास चोट के निशान थे. गले में हरे कपड़े के निशान नहीं बल्कि सुशांत के डॉगी फज के पट्टे के निशान थे.

अंकित ने ये भी बताया कि जब रिया चक्रवर्ती सुशांत की जिंदगी में आईं, तब वो छुट्टियों पर थे. रिया से उनकी कभी मुलाकात भी नहीं हुई थी. अंकित ने बताया कि सुशांत खुश रहने वाले इंसान थे और हमारे साथ हमेशा क्रिकेट खेला करते थे. अंकित ने बताया कि जब वो उनके पास अपनी आखिरी सैलरी लेने पहुंचे थे तो वो काफी उदास थे. सुशांत का शव 14 जून को मुंबई के बांद्रा स्थित उनके फ्लैट से बरामद किया गया था.  

हाल ही में जी न्यूज से भी खास बातचीत में अंकित ने बताया था कि सुशांत सुसाइड नहीं कर सकते हैं, और ये जानकर वो हैरत में हैं कि सुशांत ने अपने कमरे का दरवाजा बंद किया, जबकि तीन साल तक अंकित ने सुशांत के साथ काम किया लेकिन वो कभी भी अपना रूम लॉक नहीं करके सोते थे. ऐसे में अंकित यह सवाल उठा रहे हैं कि सुशांत का रूम कैसे लॉक हुआ. अंकित के मुताबिक अक्टूबर 2018 में सुशांत के अकाउंट में 30 करोड़ रुपये थे, जुलाई 2019 के आखिरी वीक में अंकित कुछ पर्सनल रीजन से छुट्टी पर गए थे, आने के बाद उन्हें काम पर वापस नहीं लिया गया, जब अंकित ने इसका कारण पता किया तो पता चला कि रिया ने सुशांत के पुराने स्टाफ को बदल दिया है, जिसकी वजह से उन्हें भी काम से निकाला गया है. (इनपुट IANS से भी)

एंटरटेनमेंट की और खबरें पढ़ें

लोडिंग

'; var cat = "?cat=29";

/*************************************/ /*$(window).scroll(function(){ var last = $('div.listing').filter('div:last'); var lastHeight = last.offset().top ; if(lastHeight + last.height() < $(document).scrollTop() + $(window).height() && nextload==true){ //console.log("**get data"); var circle = ""; var myTimer = ""; var interval = 30; var angle = 0; var Inverval = ""; var angle_increment = 6; $.ajax({ url: "/hindi/news/article-list.php" + cat + nextpath, async: true, dataType: "json", beforeSend: function() { $('div.listing').append(load); nextload=false; //console.log("/micros/article-list.php" + cat + nextpath); ice = 1; circle = $('.center-section').find('#green-halo'); myTimer = $('.center-section').find('#myTimer'); angle = 0; Inverval = setInterval(function (){ $(circle).attr("stroke-dasharray", angle + ", 20000"); //myTimer.innerHTML = parseInt(angle/360*100) + '%'; if (angle >= 360) { angle = 1; } angle += angle_increment; }.bind(this),interval); }, success: function(data){ nextload=false; //console.log("success"); //console.log(data); $.each(data['rows'], function(key,val){ //console.log("data found"); ice = 2; if(val['id']!='727333'){ string = '

' + val["title"] + '

' + val["summary"] + '

'; $('div.listing').append(string); } }); }, error:function(xhr){ //console.log("Error"); //console.log("An error occured: " + xhr.status + " " + xhr.statusText); nextload=false; }, complete: function(){ $('div.listing').find(".loading-block").remove();; pg +=1; //console.log("mod" + ice%2); nextpath = '&page=' + pg; //console.log("request complete" + nextpath); cat = "?cat=29"; //console.log(nextpath); nextload=(ice%2==0)?true:false; } }); setTimeout(function(){ //twttr.widgets.load(); //loadDisqus(jQuery(this), disqus_identifier, disqus_url); }, 6000); } //lastoff = last.offset(); //console.log("**" + lastoff + "**"); });*/ /*$.get( "/hindi/zmapp/mobileapi/sections.php?sectionid=17,18,19,23,21,22,25,20", function( data ) { $( "#sub-menu" ).html( data ); alert( "Load was performed." ); });*/ function fillElementWithAd($el, slotCode, size, targeting){ if (typeof targeting === 'undefined') { targeting = {}; } else if ( Object.prototype.toString.call( targeting ) !== '[object Object]' ) { targeting = {}; } var elId = $el.attr('id'); console.log("elId:" + elId); googletag.cmd.push(function(){ var slot = googletag.defineSlot(slotCode, size, elId); for (var t in targeting){ slot.setTargeting(t, targeting[t]); } slot.addService(googletag.pubads()); googletag.display(elId); //googletag.pubads().refresh([slot]); }); } var maindiv = false; var dis = 0; var fbcontainer = ''; var fbid = ''; var ci = 1; var adcount = 0; var pl = $("#star727333 > div.field-name-body > div.field-items > div.field-item").children('p').length; var adcode = inarticle1; if(pl>3){ $("#star727333 > div.field-name-body > div.field-items > div.field-item").children('p').each(function(i, n){ ci = parseInt(i) + 1; t=this; var htm = $(this).html(); d = $("

"); if((i+1)%3==0 && (i+1)>2 && $(this).html().length>20 && ci