मुथैया मुरलीधरन की बायोपिक से पीछे हटे विजय सेतुपति, बताई यह वजह

मनोरंजन

चेन्नई: श्रीलंका के मशहूर गेंदबाज मुथैया मुरलीधरन (Muthiah Muralidaran) के जीवन पर बन रही फिल्म को लेकर जारी विवाद के बीच तमिल एक्टर विजय सेतुपति (Vijay Sethupathi) ने फिल्म छोड़ने का ऐलान कर दिया है. सेतुपति ने कहा कि मुरलीधरन की अपील के बाद उन्होंने ये फैसला लिया है. अभिनेता ने एक बयान जारी करते हुए बताया कि मुरलीधरन ने उसने कहा कि फिल्म में काम न करें, क्योंकि इससे उनके एक्टिंग करियर को नुकसान होगा.

हो रहे हैं प्रदर्शन
श्रीलंकाई गेंदबाज मुरलीधरन की बायोपिक ‘800’ को लेकर पिछले कई दिनों से विवाद जारी है. फिल्म में तमिल फिल्म इंडस्ट्री के दिग्गज एक्टर विजय सेतुपति मुथैया मुरलीधरन का किरदार निभाने वाले थे, जिसके बाद से उनका भी विरोध शुरू हो गया था. तमिलनाडु में उनके खिलाफ प्रदर्शन हो रहे थे. जिसे देखते हुए अभिनेता ने आखिरकार फिल्म छोड़ने का फैसला लिया.

मुरलीधरन ने तोड़ी चुप्पी
इस विवाद पर मुथैया मुरलीधरन ने चुप्पी तोड़ते हुए बयान जारी किया है. उन्होंने कहा है, ‘जब फिल्म निर्माता ने मुझसे संपर्क किया, तो मैं इसके लिए तैयार नहीं था. फिर मैंने सोचा कि फिल्म मेरे परिजनों के संघर्ष, मेरे कोच के योगदान और मेरे जिंदगी के साथ जुड़े लोगों पर प्रकाश डालेगी. मेरे परिवार ने एक चाय के बागान से अपनी जिंदगी शुरू की थी. 30 साल के गृहयुद्ध का श्रीलंका में इस इलाके में रहने वाले तमिलों पर बहुत असर पड़ा. फिल्म ‘800’ दर्शाती है कि मैंने इन परेशानियों को कैसे पार पाते हुए क्रिकेट में सफलता पाई.’

#AmitShahOnZeeNews: बिहार में NDA का DNA क्‍या है? जानिए अमित शाह ने क्‍या कहा

गलत अर्थ निकाला गया
मुरलीधरन ने आगे लिखा है, ‘मेरी फिल्म को लेकर तमिलनाडु में जो विवाद हो रहा है उससे मैं दुखी हूं. मेरे बयानों का गलत अर्थ निकाला गया. मैं नहीं चाहता कि मेरी वजह से किसी बेहतरीन अभिनेता का करियर प्रभावित हो. इसलिए मैंने विजय सेतुपति से फिल्म छोड़ने का अनुरोध किया. मैंने अपने जीवन में हर बाधा को पार किया है और कभी हार नहीं मानी. इस बाधा को भी मैं पार कर लूंगा. फिल्म निर्माता ने मुझसे कहा है कि वो फिल्म के बारे में जल्द घोषणा करेंगे’. जानकारी के मुताबिक, फिल्म एमएस श्रीपति द्वारा निर्देशित की जानी है और सैम सीएस इसके लिए संगीत दे रहे हैं.

विवाद की वजह
मुथैया मुरलीधरन ने श्रीलंका की सिविल वॉर के वक्त वहां की सरकार का समर्थन और तमिल आतंकवादी संगठन एलटीटीई का विरोध किया था. इसी बात को लेकर उनकी फिल्म का विरोध किया जा रहा है. उनके LTTE विरोधी बयानों को आधार बनाकर तमिल फिल्म इंडस्ट्री में मुरलीधरन की बायॉपिक के खिलाफ माहौल बनाया गया है. 

 

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *