संजय दत्त को हुआ 4 स्‍टेज लंग कैंसर, जानें इस कैंसर के बारे में

Health & Fitness

लंग कैंसर (Lung Cancer) क्या है?

लंग कैंसर क्यों होता है इसे जानने से पहले यह समझना जरूरी है कि कैंसर क्या है ? शरीर में मौजूद सेल यानी कोशिकाओं की एक विशेषता होती है। एक उम्र के बाद वो खुद नष्ट हो जाती हैं, लेकिन कैंसर की बीमारी के बाद शरीर के उस अंग विशेष के सेल की वो विशेषता खत्म हो जाती है। वो कोशिकाएं मरती नहीं बल्कि दो से चार, चार से आठ के हिसाब से बढ़ती हैं। उनके स्वत: नष्ट होने की क्षमता खत्म हो जाती है। शरीर के जिस अंग की कोशिकाओं में ये दिक्कत आने लगती है, उसी अंग को कैंसर की उत्पत्ति की जगह माना जाता है।

 फेफड़ों के कैंसर के कारण

फेफड़ों के कैंसर के कारण

– पहला तंबाकू का सेवन या स्मोकिंग। सिगरेट पीने और तंबाकू के सेवन का सीधा संबंध फेफड़ों से जुड़ी बीमारियों से होता है। इससे लंग कैंसर तक का ख़तरा होता है।

– दूसरा कारण है हवा में मौजूद प्रदूषण। इन दिनों चाहे कारखानों से फैल रहा प्रदूषण हो या फिर डीजल गाड़ियों से निकलने वाला धुंआ, सबसे बेंजीन गैस निकलती है। यही गैस हवा को प्रदूषित करती है जिससे फेफड़ों के कैंसर का ख़तरा होता है।

– तीसरा कारण है जेनेटिक यानी अनुवांशिक। शरीर में मौजूद जीन में बदलाव की वजह से भी इस तरह का कैंसर होता है।

डॉक्टरों के मुताबिक लंग कैंसर दो प्रकार के होते हैं

डॉक्टरों के मुताबिक लंग कैंसर दो प्रकार के होते हैं

– स्मॉल सेल कैंसर

– नॉन स्मॉल सेल कैंसर

फेफड़े के कैंसर के लक्षण

फेफड़े के कैंसर के लक्षण

– अगर तीन हफ्तों तक आपको खांसी है जो ठीक नहीं हो रही।

बलगम में खून आ रहा हो।

– सीढ़ियां चढ़ने उतरने में सांस फूलने लगती है।

– सीने में दर्द की शिकायत रहती हो।

– लगातार वजन घटना।

– अगर लंग कैंसर शरीर के दूसरे हिस्से जैसे दिमाग तक फैल चुका है, तो इसकी वजह से शरीर के किसी अंग को लकवा मार सकता है। अगर कैंसर किडनी तक फैल जाए तो हो सकता है कि जॉन्डिस यानी पीलिया की बीमारी होने की सम्‍भावना रहती है।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *