Corona: Immunity Booster है गिलोय का जूस, बीमारियों से रहेंगे दूर – अनेक फ़ायदे

Health & Fitness

सांस संबंधी बीमारी के लिए फायदेमंद है गिलोय

गिलोय का इस्तेमाल करने से अस्थमा और खांसी को दूर किया जा सकता है। गिलोय में एंटी इंफ्लेमेटरी पाया जाता है जो कि सांसों संबंधित परेशानियों से राहत दिलाता है। गिलोय फेंफड़े को साफ रखने में मददगार होता है। अस्थमा रोगियों को गिलोय के सुखें डंठल का इस्तेमाल करना चाहिए। गिलोय के साथ आंवला मिलाकर इस्तेमाल करने से त्वचा संबंधी बीमारी जैसे एग्जिमा और सोराइसिस को दूर किया जा सकता है।

कोरोना को मात देने के बाद जरूरी हैं ये टेस्ट, हेल्थ मॉनिटरिंग के लिए जानें डिटेलकोरोना को मात देने के बाद जरूरी हैं ये टेस्ट, हेल्थ मॉनिटरिंग के लिए जानें डिटेल

इम्युनिटी को करता है बूस्ट

इम्युनिटी को करता है बूस्ट

गिलोय को इम्यूनिटी बूस्टर कहा जाता है। गिलोय रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में काफी मदद करता है। गिलोय का सेवन से शरीर को कोरोना वायरस से बचाया जा सकता है। इसमें पाए जाने वाले गुण सर्दी जुकाम से बचाते है। अगर आप सर्दी जुकाम से परेशान है तो आप तुलसी के पत्तों के साथ गिलोय की डंठल को पानी में गर्म करके इसका सेवन करें। इससे सर्दी खांसी से राहत मिल जाएगी।

कैसे करें असली और नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन की पहचान, खरीदने से पहले इस तरह करें पहचानकैसे करें असली और नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन की पहचान, खरीदने से पहले इस तरह करें पहचान

आंखों के लिए गिलोय

आंखों के लिए गिलोय

गिलोय आंखों के लिए बहुत ही फायदेमंद माना जाता है। यह आंखों की रोशनी बढ़ाने में मददगार होता है। गिलोय का जूस पीने से आंखों की रोशनी तेज होती है।

जानें कोवैक्सीन और कोविशील्ड वैक्सीन में क्या अंतर हैजानें कोवैक्सीन और कोविशील्ड वैक्सीन में क्या अंतर है

पाचन को बेहतर बनाता है गिलोय

पाचन को बेहतर बनाता है गिलोय

गिलोय पाचन तंत्र के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। आंवले के साथ गिलोय का सेवन करने से पाचन बेहतर रहता है। जो लोग अपच से परेशान रहते है वह छाछ के साथ गिलोय रस मिलाकर इसका सेवन कर सकते है।

क्या कोरोना पॉजिटिव लगवा सकते है वैक्सीन? जानें विशेषज्ञ की रायक्या कोरोना पॉजिटिव लगवा सकते है वैक्सीन? जानें विशेषज्ञ की राय

खून की कमी को करता है दूर

खून की कमी को करता है दूर

गिलोय में ग्लूकोसाइड और टीनोस्पोरिनं पाया जाता है जो कि शरीर में खून की कमी को दूर करने में मददगार होता है। गिलोय का रस शरीर में टीनोस्पोरिक एसिड की कमी को पूरा करता है। एनीमिया के मरीज को गिलोय का सेवन करना चाहिए। गिलोय का सेवन करने से कोरोना वायरस के कहर से भी बचा सकता है। गिलोय की डंठल को पानी में डालकर पानी गर्म कर लें। इसके बाद इसे छानकर पी लें। गिलोय का स्वाद कड़वा होता है लेकिन यह वायरस से बचाने में काफी मददगार है।

अस्थमा के मरीज़ कोरोना काल में इन बातों का रखें ध्यान, जानें बचाव के आसान तरीकेअस्थमा के मरीज़ कोरोना काल में इन बातों का रखें ध्यान, जानें बचाव के आसान तरीके

गिलोय की पहचान कैसे करें

गिलोय की पहचान कैसे करें

अधिकतर लोग गिलोय की पहचान नहीं कर पाते हैं। गिलोय की पत्तियां पान की पत्तियों की तरह होती है। पान के पत्तों और गिलोय के पत्तियों में रंग का फर्क होता है। गिलोय की पत्तियों का रंग ज्यादा गाढ़ा होता है। गिलोय ज्यादातर जंगली इलाको में पाया जाता है।

कोरोना में बेवजह सीटी स्कैन कराने से हो सकता है कैंसर का खतरा - एम्स डायरेक्टरकोरोना में बेवजह सीटी स्कैन कराने से हो सकता है कैंसर का खतरा – एम्स डायरेक्टर

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *